Family Health Optima Insurance Plan in Hindi | स्टार हेल्थ इन्शुरन्स प्लान इन हिंदी

Spread the love

Family Health Optima Insurance Plan in Hindi, स्टार हेल्थ इन्शुरन्स प्लान इन हिंदी, family health optima insurance plan benefits, family health optima insurance plan review, star health insurance plans pdf, star health family health optima brochure in Hindi pdf, family health optima insurance plan brochure, star health family health optima premium chart pdf.

स्टार फैमिली हेल्थ ऑप्टिमा इंश्योरेंस प्लान आपके पुरे फैमिली को कवर करते हैं। इसका मतलब आप आपने पूरी फैमिली के लिऐ एक ही मेडिकल इंश्योरेंस ले सकते हैं।

आप साभिको पता जोगा आजकल हमारा जो इनवायरमेंट है वो कितना गन्दा हो चूका है। पानी जो हम पीते है उसमे कितनी गंदेगी होती है। जो हम सब्जियां खाते हैं या मिठाईयां खाते है उसमे भी काफी तरह की मिलाबातें होती है। और हमारे आस पास के जो गंडिगिया होती है उससे हमारे उससे हमारे शरीर को काफी सारी बिमारिया हो सकती है।

और इसका आपको अच्छे से अंदाजा जोगा की डेंगू मलेरिया जैसी बीमारियां कितनी जल्दी फैल जाती है। और अगर आप एकबार हॉस्पिटल में एडमिट हो जाति है तो आपको काफी सारी सेविंग्स उसके इलाज में चली जाती है। अगर आप एक छोटी सी हॉस्पिटल में एडमिट हो जाते है तो आप अच्छे से अंदाजा लगा सकते है उसमे आपकी कितनी सेविंग्स लग जाती है।

दुर्घटना

और अगर एक्सीडेंट की बात कारें तो एक्सीडेंट कभी भी हो सकते है। अगर आप रोड पे जा रहें है तो रोड ऐक्सिडेंट हो सकती है, अगर आप पैदल कहीं जा रहें है तो फिसलके गिर सकते है। इस तरह की सिचुएशन हमरी लाइफ में कभी भी आसकती है।

मेडिकल इंश्योरेंस का काम क्या है?

तो मेडिकल इंश्योरेंस का काम ये होता है की अगर आपको किसी बीमारी के कारण हॉस्पिटलाइजेशन होना पर जाते हैं या कोई सर्जरी करणी पर सकती है या कोई ऑपरेशन कराना पर सकता है, या कोई आपका एक्सीडेंट हो गया है तो उस समय मेडिकल इंश्योरेंस आपको हॉस्पिटल बिल का बुक्तन करने में आपका मादत करता है। यानी मेडिकल इंश्योरेंस का काम ये होता है अगर आपको कोई भी बिमारी होती है तो उस समय आपकी जो मेडीकल एक्सपेंसेज है उसका बुक्तान करने में मेडीकल इंश्योरेंस मादत करती है।

कौन कौन इस पॉलिसी को ले सकते है

इस प्लान में कोई भी बेक्ति जिसकी उम्र 18 साल से लेकर 65 साल का है वो बेक्ती अपने फैमिली के लिऐ इस स्टार फैमिली हेल्थ ऑप्टिमा प्लान को ले सकते है।

फैमिली में से इस प्लान में कौन कौन आसक्ता है

तो फैमिली में हसबैंड, वाइफ और उनके मैक्सिमम से मैक्सिमम तीन बच्चे कवर हो सकते है।

बच्चे कितने उम्र तक कवर होंगे

बच्चो के उम्र मैक्सिमम से मैक्सिमम यहां 25 ईयर तक कवर होंगी। अगर 25 साल से कोई ज्यादा का एज का है तो फैमिली हेल्थ ऑप्टिमा प्लान में ये कवर नही होगा। उसके लिऐ आपको एक अलग इंडिविजुअल पॉलिसी लेने होगी अगर आपका बच्चा 25 साल से उपर हो चूका है।

स्टार फैमिली हेल्थ ऑप्टिमा प्लान टर्म

ज्यादातर जो इंश्योरेंस पॉलिसी है वो 1 साल के लिऐ ली जाती है उसके बाद जब आपका एक साल पूरा हो जाता है तब इस पॉलिसी को रिन्यू कराना पड़ता है। जैसी आप बाइक के पॉलिसी को रिन्यू कराते है वैसे ही आपको इस पॉलिसी को रिन्यू कराना होगा प्रीमियम पे करके।

सम एश्योर्ड

सम एश्योर्ड का मतलब होता है आपका जो बीमा है या इंश्योरेंस है वो कितने रुपए का है। उदाहरण के लिऐ – अगर आपने 10 लाख रुपए का सम एश्योर्ड लिया है इसका मतलब आपके 10 लाख रुपए तक का हॉस्पिटलाइजेश का एक्सपेंस यहां इस पॉलिसी में कवर किए जायेंगे।

अगर आपका 12 लाख रुपए का एक्सपेंस होता है हॉस्पिटल में तो मैक्सिमम 10 लाख रुपए कवर किए जायेंगे। और अगर आप 15 लाख रुपए का इंश्योरेंस ले रक्खा है तो 15 लाख तक की एक्सपेंस इस पॉलिसी में कवर किए जायेंगे।

Note: यहां पे जो सम एश्योर्ड दिए गाय है वो कम से कम आप 3 लाख, 4 लाख, 5 लाख रुपए का ले सकते है। और ज़्यादा से ज़्यादा 10, 15, 20 और 25 लाख रुपए का ले सकते है। 5 लाख रुपए और उससे ज़्यादा के और उससे ज़्यादा के सम एश्योर्ड पे आपको काफी अच्छी बेनिफिट्स मिल जाती है।

प्री-एक्सेप्टेन्स मेडिकल स्क्रीनिंग

अगर आपका उम्र 50 साल से ज़्यादा का है तो ही आपको यहां पर मेडीकल टेस्ट करवाने की जरूरत जोगी अन्नाथा आपको किसी भी तरह का कोई भी मेडीकल टेस्ट यहां पर नही कराना होगा।

Note: उसके साथ साथ जो भी यहां पर मेडीकल टेस्ट की एक्सपेंस होती है वो आपको पे नही करणी होती है। जो भी इंश्योरेंस कम्पनी है याहपे आपके मेडीकल टेस्ट के एक्सपेंस को पे करती है।

और ये टेस्ट आपको कम्पनी के डिजिग्नेटेड इंटरेस्ट पे ही कराना होगा ऐसा नही की आप किसी भी डॉक्टर्स से इन टेस्ट को कराके कम्पनी दे। जिस भी सेंटर्स से कम्पनी के तरफ से आपको कहां जायेगा वहा पर जाके आपको उस टाइम पर ही आपको मेडिकल टेस्ट कराना होगा लेकिन याद रखना की ये टेस्ट आपको सिर्फ तभी करानी है जब आपकी उम्र 50 साल से ज़्यादा की हो चुकी है।

और आपको कौन कौन सी मेडीकल टेस्ट करानी है ये भी कम्पनी से पता चलती है और कहा करानी है वो सारे डिटेल्स आपको तब मिलेगी जब आप यहां पे अपनी फार्म फिलअप करके कंपनी को दे देते है इंश्योरेंस पॉलिसी के लिऐ।

फैमिली हेल्थ ऑप्टिमा प्लान का बेनिफिट्स

  • इसमें आपको रूम, बोर्डिंग, नर्स के एक्सपेंस मिल जाते है। अगर आप हॉस्पिटल में एडमिट होते हैं तो आपको रूम लेना होता है तो उसके एक्सपेंस यहां पर कवर हो जाएंगी।
  • अगर आप 5 से लेकर 25 लाख रुपए की पॉलिसी लेते है तो उसमे आप कोई भी सिंगल सतनदर्द एसी रूम में एडमिट हो सकते है। उसके लिऐ यहां पे कोई भी रूम रेंट लिमिट नही है। लेकिन अगर आप 3 से 4 लाख वाली पॉलिसी लेंगे तो उसमे 5 हजार पर डे की रूम लिमिट है और जो एक्स्ट्रा रूम रेंट पेमेंट होगा वो आपको एक्स्ट्रा पे करना परेगा।
Sum InsuredRoom Rent Limit Rs.
1,00,000/- to 2,00,000/Up to 2,000/- Per Day
3,00,000/- to 4,00,000/-Up to 5,000/- Per Day
5,00,000/- to 25,00,000/-Single Standard AC Room
  • इसके साथ साथ यहां पे सर्जन की फीस, कोल्सेंटेंट की फीस या जो स्पेशल डॉक्टर्स होते है उनकी फीस यहां पे कवर हो जाएंगी।
  • और हॉस्पिटल में अगर आपको ब्लड की जरूरत परति है, ऑक्सीजन की जरूरत परति है या आपका कोई ऑपरेशन होती है, तो ऑपरेशन थिएटर चार्जेस, अपके मेडिसिन के चार्जेस, एक्सरे की चार्जर्स इस तरह की जो सिमिलर एक्सपेंस है वो यहां पर इंक्लूड हो जाते है। इन अभी का क्लेम आप यहां पर ले सकते है।

इसे भी पढ़ें

> Health Insurance Kya Hai | क्या है स्वास्थ्य बीमा खरीदने का सही समय?

> 15 दिन में पेट और कमर की चर्बी कम करने के उपाय | Belly Fat Kaise Kam Kare

इमरजेंसी एम्बुलेंस एंड एयर एम्बुलेंस

अगर आप किसी कारण से घरपे है और कोई वैकल नही है तो आप एंबुलेंस से हॉस्पिटल में जाके एडमिट हो सकते है

यहां पे आपको इमरजेंसी एंबुलेंस की सुबिधा मिल जाती है साथ ही एयर एंबुलेंस की भी सुविधा मिल जाती है। कहीबर ऐसा होता है की आपको इलाज कराने के लिऐ बाहर जाना होता है तो आप एयर एंबुलेंस से भी अपना इलाज कराने के लिऐ बाहर जा सकते है। इस केस में अगर आप 10 लाख रुपए की पॉलिसी ली है तो उसका 10% यहां पे मैक्सिमम से मैक्सिमम एयर एंबुलेंस की केस में कवर किया जायेगा।

Note: लेकिन एयर एंबुलेंस का बेनिफिट्स सिर्फ 5 लाख रुपए से ज़्यादा की पॉलिसी में ही अवेलेबल है।

प्री-हॉस्पिटलाइजेशन

उसके इलावा आपको हॉस्पिटल में एडमिट होने से 60 दिन पहले तक के खर्चे जो आपके बिमारी पे लगे है वो क्लेम में ले सकते है।

क्यूंकि ज्यादातर ऐसा होता है की अगर हम कुछ प्रोब्लम होते है तो पहले हम मेडीकल स्टोर से दबाई लेकर देखते है अगर सही नही होते है तो हम हॉस्पिटल में एडमिट होते हैं। तो हॉस्पिटल में एडमिट होने की 60 दिन पहले को जो खर्च है जो हमने अपनी बिमारी पर किए है वो यहां पर क्लेम में ले सकते है।

पोस्ट-हॉस्पिटलाइजेशन

और ऐसा भी नहीं होता है की हम हॉस्पिटल से निकले और एकदम सही होकर निकल। उसके बाद भी हमारा कुछ न कुछ ट्रीटमेंट चलता रहता है, कुछ ना कुछ चेक अप चलता रहता है। जैसी एक्सरे या हमारे मेडीकल का खर्चा तो वो सब चलता रहता है जब हम हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होकर आजाते है तो भी।

तो हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होने के 90 दिन बाद तक की खर्चे यहां पर आप क्लेम कर सकते है।

60 दिन एडमिट होने से पहले और 90 दिन डिसचार्ज होने के बाद के खर्चे यहां पर आप कवर कर सकते है।

कोस्ट ऑफ हेल्थ चेक अप

इसके साथ साथ आपको यहां पे हैल्थ चेक अप की भी फैसिलिटीज भी मिल जाती है। अगर आपने अपके पॉलिसी टर्म के दौरान कोई भी क्लेम नही लिऐ है तो आप अपना हैल्थ चेक अप करा सकते है किसिभी नेटवर्क हॉस्पिटल में।

हैल्थ चेक अप का क्लेम अपको तभी मिलती है जब आप पूरे साल में कोई भी इंश्योरेंस का क्लेम नही लिऐ है। और अगर आपने यहां 10 लाख रूपय का सम एश्योर्ड लिया है तो आप 2 हजार रुपए तक का एक साल में हैल्थ चेक अप किसी भी नेटवर्क हॉस्पिटल मैं करा सकते है।

हॉस्पिटलाइजेशन एक्सपेंसेस फॉर ट्रीटमेंट ऑफ न्यू बॉर्न बेबी

साथ में यहां पर अगर कोइ न्यू बॉर्न बेबी है तो जब वो 15 दिन का हो जायेगा तो 16बे दिन से इस बच्चे को भी इस पॉलिसी में कवर कर लिया जायेगा।

लेकिन उसके ट्रीटमेंट के लिए यहां पर 10% अपके सम एश्योर्ड का या 50 हजार जो भी कम अमाउंट होगा उतना ही मैक्सिमम कवर मिलेगा।

लेकिन इसमें कंडीशन ये है की मदर लगातार 12 महीने तक इस पॉलिसी में कवर होनी चाहिएं और इंटिमेशन कम्पनी को देना होगा जाभी आपकी बेबी बॉर्न होती है।

Note: यहां पे बेबी डिलीवरी या प्रेगनेंसी चार्जर्स कवर नही होंगे। यहां पे सिर्फ न्यू बॉर्न बेबी को अगर कोइ बिमारी होती है तो उसकी ट्रीटमेंट का खर्च दिया जायेगा।

ऑटोमेटिक रेस्टोरेशन ऑफ बेसिक सम इंस्योर्ड

इस पॉलिसी में आपको 3 टाइम्स ऑटोमेटिक रेस्टोरेशन का बेनिफिट्स मिल जाता है। इसका मतलब ये है की अगर आपकी फैमिली का कोई भी बक्ति बीमार हया और उसपर आपका बीमा का जो कवर है वो लिमिट पूरी हो जाति है तो उसकी बाद भी अपके फैमिली की दूसरे या तीसरे बक्ति के लिए कवर प्रोवाइड करेगी। वो भी पपुरे अमाउंट का जितने का आपने कवर लिया है।

Note: अगर कोइ एक बक्ति इस पूरी लिमिट को यूज नही करते है तो आप ऑटोमेटिक रेस्टोरेशन का बेनिफिट नही ले पाएंगे। और ये बेनिफिट्स अवेलेबल है अगर आप 3 लाख रुपए या उससे ज़्यादा का सम इंस्योर्ड लेते है तो।

इसे भी पढ़ें

> Pimple Kaise Hataye – हिंदी में | पिंपल हटाने के घरेलू नुस्खे

> Piles Treatment in Hindi | Piles Kya Hai – हिंदी में

रिचार्ज बेनिफिट्स इफ द लीमिट ऑफ कवरेज अंडर द पॉलिसी इस एक्जास्टेड

अगर आप आपने पॉलिसी की कवरेज को पूरा यूज कर लेते है तो उसके बाद ये जो लिमिट है उसको बारह दिया जाता है और इसके लिए आपको कोई एक्स्ट्रा पे नही कराना होता है।

Sum InsuredLimit Rs.
1,00,000/- And 2,00,000/-Not Available
3,00,000/- 75,000/-
4,00,000/- 1,00,000/-
5,00,000/- to 25,00,000/- 1,50,000/-

Example: मान लेते है की आप 10 लाख रुपए की इंश्योरेंस पॉलिसी लिए है और जो आपका हॉस्पिटल एक्सपेंस है वो आया है 11 लाख रुपए का तो यहां पे रिचार्ज बेनिफिट्स मिलते है। रिचार्ज बेनिफिट्स यहां पे आपको 1.5 लाख रुपए का मिलने वाला है। यहां पे जो 1 लाख रुपए एक्स्ट्रा है वो आपको पे नही करने होंगे।

नो क्लेम बोनस

इस पॉलिसी में आपको एक बेनिफिट्स मिल जाती हैं नो क्लेम बोनस का। अगर आप पिछले साल आपने पॉलिसी पर कोई भी क्लेम नही लेते है तो उससे नेक्स्ट ईयर आपको यहां पे बोनस मिल जाते है।

फोर्ट ईयर मान लेते है आपने पॉलिसी ली और उस साल में आपने कोई भी क्लेम इंश्योरेंस पॉलिसी से नही लिए हैं। तो उससे नेक्स्ट ईयर आपको यहां से 25% का बोनस मिल जायेगा। 25% ऑफ सम इंस्योर्ड इसका मतलब ये है की अगर आप सिर्फ 10 लाख रुपए का इंस्योर्ड ले रहें है तो आपको प्रीमियम 10 लाख रुपए का पे करना होगा लेकिन जो आपका इंश्योरेंस कवर होगा वो कवर होगा 12 लाख 50 हजार रुपए का।

और उससे अगले साल भी अगर आप क्लेम नही लेते है तो यहां पे आपका अगले साल बोनस मिलता रहेगा। जो बाकी के बचे सालो में है वो 10% कराके आपको बोनस मिलता रहेगा और ये बोनस मैक्सिमम से मैक्सिमम 100% तक बरता रहेगा।

वेटिंग पीरियड

यहां पर पॉलिसी लेने के बाद 30 डेज का वेटिंग पीरियड होती है। मतलब पॉलिसी लेने के 30 दिन बाद आपको क्लेम मिलेगा।

अगर पॉलिसी लेने के 30 दिन के अंदर आपको कोई बिमारी या इलनेस होती है तो उसका कवर यहां पे नही मिलेगा। लेकिन एक्सीडेंट की केस में यहां पे कोई भी वेटिंग पीरियड नही है। एक्सीडेंट कवर यहां पे डे 1 से ही कवर हो जाते है।

और अगर आप इंपेसिंट ट्रीटमेंट करा रहें है तो हॉस्पिटल एक्सपेंस तभो कवर होंगी अगर पेशेंट कम से कम 24 घंटे तक हॉस्पिटल में एडमिट रहता है। अगर 24 घंटे से कम हॉस्पिटल में रहते है तो एक्सपेंस यहां पे क्लेम नही होंगे।

लेकिन एक्सीडेंट की वजह से अगर कुछ होते है चाहे रोड एक्सीडेंट हो, फिसल्के गिरे हो या किसीसे मारपीट हुए हो तो उस केस में 24 घंटे हॉस्पिटल रहने की कंडीशन एप्लिकेबल नही होंगी और नहीं 30 दिन वेटिंग पीरियड यहां पे एप्लिकेबल होगा।

इसके साथ साथ कुछ डे केयर ट्रीटमेंट होती है जैसे पटरी का ऑपरेशन, तो कुछ ऐसे ऑपरेशन भी होते है जिनको सिर्फ 4 से 5 घंटे में कंप्लीट हो जाते है तो उस केस भी 24 घंटे तक हॉस्पिटल में एडमिट रहने का कंडीशन एप्लिकेबल नही होंगी।

इनकम टैक्स बेनिफिट्स

इसके साथ साथ आपको यहां पे इनकम टैक्स बेनिफिट्स मिल जाते है। जो लोग भी इनकम टैक्स पे करते है वो इनकम टैक्स की 80D सेक्शन में जो भी यहां पे प्रीमियम पे करते है उसका डिडेक्शन ले सकते है।

कैशलैस ट्रीटमेंट

और इस पॉलिसी में आपको कैशलैस फेसिलाइटिज मिल जाती है। आप किसीभी नेटवर्क हॉस्पिटल में कैशलैस इलाज करा सकती है यहां पे आपको कोई भी कैश पे करने की जरूरत नहीं होंगी। नेटवर्क हॉस्पिटल में आप सिर्फ और सिर्फ जाके अपना इलाज कराइये और वापस अपने घर असकते है।

एक्सक्लूजन अंडर द पॉलिसी

कौन कौन सी ऐसी चीजे है जो इस पॉलिसी में कवर नही होंगे।

जैसी की कॉस्मेटिक सर्जरी, प्लास्टिक सर्जरी या डेन्टल ट्रीटमेंट होती है इस तरह की कोई भी ट्रीटमेंट यहां पे कवर नहीं की जाएगी।

स्पेसिफाइड ट्रीटमेंट्स

कुछ स्पेसिफाइड डिजीज है कुछ स्पेसिफाइर्ड इल्लनेस है जो आपके पॉलिसी सुरु होने की 2 साल बाद कवर होती है। तो वो आप अपने पॉलिसी डॉकमेंट्स में देख सकते है की कौन कौन सी एसी जो बीमारियां है 2 साल बाद कवर होती है।

प्री एक्सिस्टिंग डिजीज

इसके साथ साथ जो यहां पे प्री एक्सिस्टिंग डिजीज है वो यहां पे 4 साल बाद कवर होती है। प्री एक्साइटिंग डिजीज मतलब जो आपकी डिजीज पहले से है वो आपकी यहां से पॉलिसी सुरु होने के 4 साल बाद कवर होती है। अगर आप 4 साल तक लगातार अपने पॉलिसी को चलाते रहते है।

फ्री लुक पीरियड

और अगर पॉलिसी लेने के बाद आपको लगता है आपको जो पॉलिसी चाहिएं थी ये वासी पॉलिसी नही है। तो इसमें आपको 15 दिन का ग्रेस पीरियड भी मिलता है। पॉलिसी डॉकोमेंट आपको मिलने के बाद 15 दिन के अंदर अंदर आप आपने पॉलिसी को कैंसल करा सकते है। और आप अपना पैसा रिफंड ले सकते है।

WebsiteCLICK HERE
Insurance Plans,
Brochures, Premium Chart – All PDF
CLICK HERE
Customer service:1800 425 2255
Claims Whatsapp:+91-9597652225
Customer Care 1
Customer Care 2
04469006900
18004252255
Sr Citizen Claim:04440020888
Corporate Claim:04443664666

इसे भी पढ़ें

> WBC in Hindi | WBC कितने प्रकार के होते हैं – हिंदी में

> जानिए डिप्रेशन का घरेलू इलाज | लक्षण | Depression in Hindi


Spread the love

Leave a Comment

Nick Carter is Being Sued For Allegedly Raping a Teenage Girl “Elden Ring” Involves Highest Awards at The Game Awards Jackie Chan States That “Rush Hour 4” Is Currently In Production Josh Jacobs Uncertain Whether to Return With Hand Damage James Wiseman Thankful To Return NBA With Warriors